Monthly Archives: October 2012

Hindi Poem: Kyun Ishq ne Dard Diya!

कल  यूही  बातो  बात  में  चैम्प से  discussion हुआ .
क्यों  इश्क  ने  लौंडे  को  ही  दर्द  दिया
पन्ने  पलट  के  भी  देखा, बेवफा  वही थी
गीत  में, कविता  में,  ग़ज़ल  में  बेवफा  वही  थी
वो  तो  भटकता  ही  रहा,  कहानी  हर  बार  की  यही  थी
लौडिया  की  बेवफाई  ने  बहुतो को रुलाया
हम  तो  गम  में  पूरी  तरह  डूबे  भी  नहीं थे
और  उसकी  शादी  का निमंत्रण पत्र  आया

अश्को  की  माला  लौंडे  को  पहनाते  हुए
हंस  कर  घर  किसी  और  के  साथ  बसाया
लौंडिया  बहुत  कमीनी  होती  है
प्यार  की  कसमे  तो  एक  के  साथ  खाती  है
साथ  ही  साथ  back up plan बनाती  है
जूनून  से  लौंडा  ही  मोहब्बत  करता  है
लेकिन  अब ये  हो  नहीं  सकता  कह  कर
लौंडे  को  केला  दे  कर  निकल  जाती  है
Champ ने  शोध  को  आगे  बढाया  तो  नतीजे  में  ये  पाया
लौंडिया  को  पता  है  एक  गया  तो  दूजा आया
liquid ने  प्यार  के  पंचनामा  में  भी  यही  बताया
लौंडिया  ने  तो  सिर्फ  अपना  timepass किया  और  अपनी  market value को  बढाया
चूतिया  तो  वो  लौंडा  था  जो  सच्चाई  भांप  न  पाया
बात  जब  करनी  चाहे  उससे  तो  उसका  नया नया fiance बीच  में  आया
इश्क  के  चक्कर  में  अपना  सब  कुछ  लुटा  आया
पारो सदा  रही  महलों  में  और  देवदास  ने  सड़क  पर  जान गंवाया

एक लौंडिया के लिए तो यही बात सच है
Men are a luxury, not a necessity!!
Logo_Ris

Ae Dil Dil Ki Duniya Mein!

Aye dil, dil ki duniya mein
Aisa haal bhi hota hai
Baahar koi hansta hai
Andar koi rota hai

Aye dil, koi pehchaana nahin
Kisi ne yeh maana nahin
Kisi ne yeh jaana nahin
Kisi ko bataana nahin
Dard chhupa hai kahan

Tune mujhse vafaa nahin ki
Tujhko kaise vafaa milegi
Tune mujhko dard diya hai
Tujhko kaise davaa milegi

Kaante chunkar tera daaman
Phoolon se main bhar jaaoonga
Isse badi sazaa kya hogi
Maaf tujhe main kar jaaoonga

(Tum Mujhe Bhool Jao, Ye Tumhara Haq Hai,
Meri Baat aur hai, Maine to Mohabbat Ki Thi)

Hindi Poem: Life mein Gugly!!

life भी  ऐसी  गुगली  देती  है
जब  लगा  बात  बन  गयी
तभी  पता  चला  की  बात  तो  निपट  गयी
चार  साल  तक  जिस  माला  को  पिरोया
वो  चंद  ही  घंटो  में  बिखर   गया
और  नन्हे  का  नाम  भी  हारे  हुए  आशिकों  की  लिस्ट  में  जुड़  गया
“Baby, i love you” से  “My wedding is fixed” का  सफ़र  तय  करने  में
उसे  सिर्फ  ७२  घंटे  लगे, शायद  T20 world cup का  असर  था
“God is with us” की  वो  बातें  अब  चेहरे  पर  मुस्कराहट  लाती  है
बुड्ढे  ने  भी  ऐसा  गेम  खेला  की  बेटी  को  emotional अत्त्याचार  से  फंसा  लिया
वो  कितनी  भी  normal होने  की  बात  करले
पर  नन्हे  जानता  है  की  ये  उतना  आसान  नहीं
मजबूरी  में  वो  फंस  गयी  और  अपनी  ख्वाहिश  को  दबा  दिया
नन्हे  को  तो  केला  मिला  ही  पर  उसे  कोई  शिकायत  नहीं
ग़ालिब  ने  कहा  था  “सिर्फ  पाने  का  मतलब  प्यार  नहीं “
दुःख  इसका  नहीं  की  लड़की  चली  गयी  but property हाथ  से  निकल  गयी
नन्हे  के  दिल  को  एक  बार  धक्का  तो  लगा
कुछ  देर  मुकेश  के  दर्द  भरे  नगमे  का  सहारा  लिया
फिर  सब  normal हो  गया
बंधन  से  छूटने  के  बाद  वो  एक  आजाद  पंछी  है
तुरंत  fb पर  status “Single” कर  दिया
नन्हे  मार्केट  में  फिर  से  उपलब्ध  है
वैसे  भी  recruiters freshers नहीं  experience मांगते  हैं
अब  तो  अच्छी  deal मिलनी  चाहिए
यही  सोच  कर  नन्हे  मस्त  है
ज़िन्दगी  रूकती  नहीं  किसी  के  जाने  के  बाद
आज  वो  शहर  की  गलियों  में  goggles लगा  कर  निकलेगा
कुड़ियों  को  जी  भर  के  बेपरवाह  ताड़ेगा
आज  फिर  किस्मत  पर  दांव  लगेगा
क्या  पता  वो  आज  फिर  से  दिल  हार  बैठेगा!!!

Watch out girls, Nanhe is back………

Logo_Ris

Dard-E-Dil

1.     आज उसके लिखे कागज़ के टुकड़ो को राख कर दिया
मेज पर रखी उसकी तस्वीर को भी अपने से दूर कर दिया
मिटा दूंगा हर चीज़ जो उसकी याद दिलाती है
पर समझ नहीं आता कैसे मिटा दूं वो यादें
जो मेरे दिल में आज भी बसर करती हैं
दर्द-ऐ-दिल बयां नहीं होता है
चाहूं न चाहूं मेरी नज़रें आज भी उसका इंतज़ार करती हैं
नहीं मानता की वो तो अब ओझल हो गयी है
दिल को उम्मीद है की वो सब कुछ छोड़ मेरे पास आ जाएगी!!

2.     मझधार से निकाल कर जिसे पार ले कर आया
उसे खुद पर यकीन करना सिखाया
उसकी सोच को नयी दिशा दी
साथ उसका कितना हसीन था
सोचा था वो हमेशा मेरे साथ रहेगा
क्या पता था कि वो ही हमें मझधार में छोड़ चलेगा
मझधार से निकाल कर जिसे पार ले कर आया
आज उसी ने कर दिया मुझको पराया!

3.     कहना तो बहुत कुछ चाहता थे तुझसे
पर मेरे दिल ने रोक लिया
जानता है कि तुझे रुला कर
ये भी बेचैन हो जाएगा!

4.     आज भी तेरी तस्वीर दिल में बसाए तेरा दीदार करते हैं
तेरे हाथों की मेहँदी की खुशबू  मेरे घर को गुलज़ार करती हैं
तुम मुझे छोड़ कर चली गयी, फिर भी
मेरी ज़िन्दगी तो अभी भी तेरा ही नाम लिया करती है!!

5.     तुमको बेइंतेहा चाहा हमने
तेरी मोहब्बत आदत बन गयी
तेरे जाने के बाद पसरी तन्हाई कहती है
भूल जाऊं तुमको, पर कैसे
आदतें बदलती हैं कहाँ आसानी से…

6.     दिल ने जिसे हमेशा अपना समझा
आज वो किसी और का होने जा रहा है
क्यूँ होता है ये मोहब्बत में
जिसे चाह बेपन्हा आज वो गैर का घर बसाने जा रहा है!!

Logo_Ris