Hindi Poem: Kyun Ishq ne Dard Diya!

कल  यूही  बातो  बात  में  चैम्प से  discussion हुआ .
क्यों  इश्क  ने  लौंडे  को  ही  दर्द  दिया
पन्ने  पलट  के  भी  देखा, बेवफा  वही थी
गीत  में, कविता  में,  ग़ज़ल  में  बेवफा  वही  थी
वो  तो  भटकता  ही  रहा,  कहानी  हर  बार  की  यही  थी
लौडिया  की  बेवफाई  ने  बहुतो को रुलाया
हम  तो  गम  में  पूरी  तरह  डूबे  भी  नहीं थे
और  उसकी  शादी  का निमंत्रण पत्र  आया

अश्को  की  माला  लौंडे  को  पहनाते  हुए
हंस  कर  घर  किसी  और  के  साथ  बसाया
लौंडिया  बहुत  कमीनी  होती  है
प्यार  की  कसमे  तो  एक  के  साथ  खाती  है
साथ  ही  साथ  back up plan बनाती  है
जूनून  से  लौंडा  ही  मोहब्बत  करता  है
लेकिन  अब ये  हो  नहीं  सकता  कह  कर
लौंडे  को  केला  दे  कर  निकल  जाती  है
Champ ने  शोध  को  आगे  बढाया  तो  नतीजे  में  ये  पाया
लौंडिया  को  पता  है  एक  गया  तो  दूजा आया
liquid ने  प्यार  के  पंचनामा  में  भी  यही  बताया
लौंडिया  ने  तो  सिर्फ  अपना  timepass किया  और  अपनी  market value को  बढाया
चूतिया  तो  वो  लौंडा  था  जो  सच्चाई  भांप  न  पाया
बात  जब  करनी  चाहे  उससे  तो  उसका  नया नया fiance बीच  में  आया
इश्क  के  चक्कर  में  अपना  सब  कुछ  लुटा  आया
पारो सदा  रही  महलों  में  और  देवदास  ने  सड़क  पर  जान गंवाया

एक लौंडिया के लिए तो यही बात सच है
Men are a luxury, not a necessity!!
Logo_Ris

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *