Hindi Poem: Life mein Gugly!!

life भी  ऐसी  गुगली  देती  है
जब  लगा  बात  बन  गयी
तभी  पता  चला  की  बात  तो  निपट  गयी
चार  साल  तक  जिस  माला  को  पिरोया
वो  चंद  ही  घंटो  में  बिखर   गया
और  नन्हे  का  नाम  भी  हारे  हुए  आशिकों  की  लिस्ट  में  जुड़  गया
“Baby, i love you” से  “My wedding is fixed” का  सफ़र  तय  करने  में
उसे  सिर्फ  ७२  घंटे  लगे, शायद  T20 world cup का  असर  था
“God is with us” की  वो  बातें  अब  चेहरे  पर  मुस्कराहट  लाती  है
बुड्ढे  ने  भी  ऐसा  गेम  खेला  की  बेटी  को  emotional अत्त्याचार  से  फंसा  लिया
वो  कितनी  भी  normal होने  की  बात  करले
पर  नन्हे  जानता  है  की  ये  उतना  आसान  नहीं
मजबूरी  में  वो  फंस  गयी  और  अपनी  ख्वाहिश  को  दबा  दिया
नन्हे  को  तो  केला  मिला  ही  पर  उसे  कोई  शिकायत  नहीं
ग़ालिब  ने  कहा  था  “सिर्फ  पाने  का  मतलब  प्यार  नहीं “
दुःख  इसका  नहीं  की  लड़की  चली  गयी  but property हाथ  से  निकल  गयी
नन्हे  के  दिल  को  एक  बार  धक्का  तो  लगा
कुछ  देर  मुकेश  के  दर्द  भरे  नगमे  का  सहारा  लिया
फिर  सब  normal हो  गया
बंधन  से  छूटने  के  बाद  वो  एक  आजाद  पंछी  है
तुरंत  fb पर  status “Single” कर  दिया
नन्हे  मार्केट  में  फिर  से  उपलब्ध  है
वैसे  भी  recruiters freshers नहीं  experience मांगते  हैं
अब  तो  अच्छी  deal मिलनी  चाहिए
यही  सोच  कर  नन्हे  मस्त  है
ज़िन्दगी  रूकती  नहीं  किसी  के  जाने  के  बाद
आज  वो  शहर  की  गलियों  में  goggles लगा  कर  निकलेगा
कुड़ियों  को  जी  भर  के  बेपरवाह  ताड़ेगा
आज  फिर  किस्मत  पर  दांव  लगेगा
क्या  पता  वो  आज  फिर  से  दिल  हार  बैठेगा!!!

Watch out girls, Nanhe is back………

Logo_Ris

One thought on “Hindi Poem: Life mein Gugly!!

  1. Rishabh

    Dil to aaj bhi tere hi khwab bunta hai, chah kar bhi yakeen nahi hota hai,ki tu ab bahut aage nikal gayi hai, ab mere saath ki tujhe zaroorat nahi hai!

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *